Sampoorna Grameen Rozgar Yojana 2021 -संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना List, Status News Update

आगे शेयर जरूर करना

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana | SGRY Full Form | Pradhanmantri Rojgar Yojana |संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना | संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना List, Status News Update

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana: संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना को भारत सरकार द्वारा ग्रामीण गरीब लोगो को रोजगार दे सके इस हेतु से शुरू किया गया है। 21 फरवरी 2003 से, ईएएस एक आवंटन-आधारित योजना बन गई इस कार्यक्रम को पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से लागू किया गया था। तो आज हम इस योजना के बारे में विस्तार से जानेगे तो बने रहिये हमारे साथ।

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana in Hindi

योजना का नामSampoorna Grameen Rozgar Yojana
कब लॉन्च किया15 August 2001
किसने लॉंन्च किया Atal Bihari Vajpayee
लाभार्थीदेश के गरीब परिवार
उद्देश्यदेश के गरीब परिवार को रोजगार देना
Sampoorna Grameen Rozgar Yojana
Sampoorna Grameen Rozgar Yojana

संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना 2021

SGSY: संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना 25 सितंबर 2001 को अटल बिहारी बाजपाई की सरकार ने रोजगार आश्वासन योजना और जवाहर ग्राम समृद्धि योजना के प्रावधानों को मिलाकर शुरू की गई थी। यह कार्यक्रम स्व-लक्षित प्रकृति का है और इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को रोजगार और भोजन उपलब्ध कराना है। इस योजना की तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वालों को मजदूरी और खाद्यान्न प्रदान करती है। जिस से देश के गरीब परिवार के लोगो को अपना रोजगार मिल सके

Objectives of Sampoorna Grameen Rozgar Yojana

संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना के तहत देश में रहने वाले गरीब परिवार के लोगो को अपने आप के किये आत्मनिर्भर और अपने परिवार के गुजरान के लिए रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना की तहत सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वालों को मजदूरी और खाद्यान्न प्रदान करेंगी। संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना के तहत 300 ग्रामीण समूहों का लाभ देना है। इन सभी गावों के समूहों को आर्थिक, सामजिक और ग्रामीणों के बुनियादी दांचे को मजबूत बनाना और हर साल हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में जितने भी लोग गरीबी रेखा से निचे आते हैं उनको 50 लाख टन अन्न मुफ्त में बांटा जाने का लक्ष्य है।

पीएम आशा योजना

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana Features

इस योजना को गरीब परिवार के लोगो को अपना रोजगार और आत्मनिर्भर बनने के लिए इस योजना की कुछ विशेषताएं है तो हमने यहाँ पर बताई है

  1. संपूर्ण ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम पंचायत राज संस्थाओं (पीआरआई) के माध्यम से क्रियान्वित किया जाएगा।
  2. योजना के तहत धन और खाद्यान्न पंचायत राज संस्थानों (पीआरआई) के सभी तीन स्तरों के लिए उपलब्ध होगा।
  3. जिला पंचायत
  4. तालुका पंचायत
  5. ग्राम पंचायत
  6. एक जिले में जिला पंचायत, मध्यवर्ती पंचायत और ग्राम पंचायत के बीच संसाधनों का वितरण 20:30:50 के अनुपात में किया जाएगा।
  7. प्राकृतिक आपदाओं से उत्पन्न गंभीर संकट के समय या बाढ़ प्रभावित या लंबे समय से सूखे ग्रामीण क्षेत्रों में निवारक उपाय करने के लिए उपयोग करने के लिए खाद्यान्न और एसजीआरवाई के तहत 5% धनराशि मंत्रालय में रखी जाएगी।

Beneficiaries of SGSY

यह योजना ग्रामीण क्षेत्र के लिए उपलब्ध है और इस योजना का लाभ गरीब परिवार के लोगो को मिलेगा हमने यहाँ पर आपके लिए संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना का लाभ किसको मिलेगा इसकी पूरी लिस्ट दी है

  • कृषि मजदूरी
  • गैर-कृषि अकुशल मजदूरी
  • सीमांत किसान
  • आपदाओं के कारण प्रभावित व्यक्ति
  • महिलाओं
  • अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के सदस्य
  • विकलांग बच्चों के माता-पिता
  • विकलांग माता-पिता के वयस्क बच्चे जो मजदूरी रोजगार के लिए काम करना चाहते है

SGRY योजना के तहत धन और गेहूं का वितरण

इस Sampoorna Grameen Rozgar Yojana के तहत गरीबी रेखा के निचे वाले लोगो को 75% नकद घटक केंद्रीय हिस्से के रूप में और 25% राज्य के हिस्से के रूप में दी जाएगी उसीके साथ खाद्यान्न सहायता केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। खाद्यान्न का भुगतान ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा और परिवहन और हैंडलिंग शुल्क का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जाता है।

SGRY योजना में रोजगार और मजदूरी कैसे दी जाएँगी?

राज्य सरकार द्वारा खाद्यान्न की लागत बीपीएल राशनकार्ड या एपीएल राशनकार्ड या दोनों के बीच कहीं भी निकाली जाती है। उपलब्ध धनराशि से क्षेत्र की आवश्यकता अनुसार कार्य कराया जायेगा। इस योजना के तहत, मजदूरी के हिस्से के रूप में प्रति श्रमिक न्यूनतम 5 किलो खाद्यान्न प्रदान किया जाता है। मजदूरी का शेष भुगतान नकद में किया जाता है। न्यूनतम 25% मजदूरी का भुगतान नकद में किया जाएगा।

Achievement of Sampoorna Grameen Rozgar Yojana

स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के लिए आधारभूत संरचना सहायता ग्राम पंचायत क्षेत्र में कृषि गतिविधियों को समर्थन देने के लिए यह योजना आवश्यक आधारभूत संरचना बनी। शिक्षा के लिए सामुदायिक अवसंरचना जिसमें किचन शेड, स्वास्थ्य और आंतरिक और साथ ही संपर्क सड़कें शामिल हैं। सामाजिक-आर्थिक सामुदायिक संपत्ति। गाद निकालना, पारंपरिक गांव के तालाबों या तालाबों का जीर्णोद्धा करना।

How does Sampoorna Grameen Rozgar Yojana work?

यह कार्यक्रम जिला पंचायतों, मध्यवर्ती पंचायतों और ग्राम पंचायतों द्वारा कार्यान्वित किया जाता है। संसाधनों को 20-30-50 के अनुपात में आवंटित किया जाता है।

ग्राम पंचायतें ग्राम सभा के अनुमोदन के आधार पर अपना काम शुरू करती हैं। ग्राम पंचायतों की 50 प्रतिशत राशि का उपयोग अनुसूचित जाति/जनजाति बहुल क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए किया जाता है। जिला और मध्यवर्ती पंचायतों को आवंटित राशि का 22.5 प्रतिशत अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति समुदायों के व्यक्तियों के विकास के लिए भी उपयोग किया जाता है।

इस योजना के तहत ठेकेदारों या बिचौलियों के रोजगार की अनुमति नहीं है। हालांकि,… इस योजना को एनआरईजीपी में शामिल किया गया था जिसे 2 फरवरी, 2006 से शुरू किया गया है।

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana PDF

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (S G R Y) Guidelines PDF Download

FAQ – SGRY

संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना योजना के तहत वार्षिक धनराशि कब जारी की जाएगी?

केंद्र सालाना 2 किस्तों में राशि जारी करेगा। यह किसी भी विसंगति के अस्तित्व के बिना पिछले वर्षों की दूसरी किस्त जारी करने की स्थिति पर निर्भर करता है। डीआरडीए के अनुरोध पर दूसरी किस्त जारी की जाती है।

sampoorna grameen rozgar yojana was launched in

इस योजना को 2001 में प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपाई जी ने लॉन्च किया था

संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना क्या है?

भारत सरकार द्वारा ग्रामीण गरीब लोगो को रोजगार दे सके इस हेतु से शुरू किया गया है। 21 फरवरी 2003 से, ईएएस एक आवंटन-आधारित योजना बन गई इस कार्यक्रम को पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से लागू किया गया था।


आगे शेयर जरूर करना

2 thoughts on “Sampoorna Grameen Rozgar Yojana 2021 -संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना List, Status News Update”

Leave a Comment